उत्तर-प्रदेश

उप्र कृषि क्षेत्र में बन सकता है आत्मनिर्भर : सुधांशु पाण्डेय

  • मुख्य सचिव ने केंद्रीय खाद्य एवं वितरण विभाग के सचिव संग की समीक्षा बैठक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने भारत सरकार के खाद्य एवं वितरण विभाग के सचिव सुधांशु पाण्डेय के साथ शनिवार को खाद्य वितरण, कृषि एवं गन्ना विकास के सम्बन्ध में संयुक्त रूप से बैठक कर कार्यों की समीक्षा की।

बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने कृषि क्षेत्र में प्रगति के लिये दिये गये सुझाव पर अमल का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र प्रदेश सरकार की शीर्षतम प्राथमिकताओं में रहा है, जिसके लिये राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है। किसानों को जीवन स्तर को उठाने के कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने सचिव भारत सरकार द्वारा दिये गये सुझाव और माडलों का अध्ययन कर 15 जून तक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

पूर्व में सचिव भारत सरकार सुधांशु पाण्डेय ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपार संभावनायें हैं। यदि प्रदेश में आवश्यकता के अनुरूप पैदावार बढ़ायी जाये, तो प्रदेश कृषि क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सकता है और अन्य राज्यों की आवश्यकताओं को भी पूरा कर सकता है।

बीज की गुणवत्ता जितनी बेहतर होगी, पैदावार उतनी अधिक होगी। बीज की गुणवत्ता बढ़ाने के लिये कृषि संस्थानों के साथ मिलकर प्रयास करें। उन्होंने प्रोक्योरमेन्ट के मॉर्डनाइजेशन पर बल दिया। उन्होंने भारत सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र को मजबूत बनाने के लिये किये जा रहे प्रयासों में सहयोग की बात कही और विभिन्न सुझाव भी दिये।

बैठक में अपर मुख्य सचिव गन्ना विकास संजय आर. भूसरेड्डी, प्रमुख सचिव सहकारिता बीएल मीना, प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती वीना कुमारी मीना, सचिव कृषि अनुराग यादव सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button