उत्तर-प्रदेश

छात्रों को तराशने में विद्या भारती की भूमिका महत्वपूर्ण : केशरीनाथ त्रिपाठी

  • यहां से निकले युवा पूरे विश्व में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे : निदेशक
  • ज्वाला देवी इंटर कालेज में परीक्षाफल वितरण समारोह

प्रयागराज। आज इस परीक्षाफल वितरण कार्यक्रम में पुरस्कार प्राप्त छात्रों को देखकर विचार आता है कि पुरस्कार किसी व्यक्ति के जीवन में उत्साह एवं गति प्रदान करते हैं। यदि इसका प्रारम्भ छात्र जीवन से ही हो जाये तो निश्चित रूप से उसे नित नये कीर्तिमान स्थापित करने से कोई रोक नहीं सकता। इसके लिए सम्बन्धित संस्थान की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

उक्त विचार पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल पं. केशरीनाथ त्रिपाठी ने शनिवार की शाम प्रो. राजेन्द्र सिंह (रज्जू भैया) शिक्षा प्रसार समिति द्वारा संचालित सिविल लाइंस स्थित ज्वाला देवी इंटर कॉलेज के वार्षिक परीक्षाफल वितरण समारोह में व्यक्त किया। उन्होंने आगे कहा कि संगमनगरी के लिए यह गर्व का विषय है कि विद्या भारती द्वारा संचालित ज्वाला देवी इण्टर कॉलेज निरन्तर ऐसी प्रतिभाओं को तराश रहा, जो अपने भावी जीवन में भारत माता के यश में श्रीवृद्धि करेंगे और समाज को सच्ची दिशा प्रदान करने में अपना अपूर्व योगदान प्रदान करेंगे।

कार्यक्रम अध्यक्ष के रुप में एमएनएनआईटी के निदेशक प्रो. रमाशंकर वर्मा ने आशीर्वचन में कहा कि विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालयों से निकले युवा आज भारत में ही नहीं पूरे विश्व में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चलायें गये मेक इन इंडिया कांसेप्ट के माध्यम से पूरे देश की दिशा एवं दशा परिवर्तित करने में अपनी भूमिका निभाकर एक नये भारत का निर्माण कर रहे हैं।

भारतीय शिक्षा समिति पूर्वी उप्र के मंत्री डॉ रघुराज सिंह ने कार्यक्रम की प्रस्ताविकी रखते हुए कहा कि आज ज्वाला देवी शिक्षा के क्षेत्र में एक अग्रणी संस्थान है, जो विद्यार्थियों के जीवन को तराशने का कार्य करता है। आगामी सत्र से इस विद्यालय में सह-शिक्षा भी प्रारम्भ की जा रही है। जिससे फलस्वरूप बालिकायें भी राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दे पायेगी और आने वाले दिनों में यह विद्यालय उन्नति के नये कीर्तिमान स्थापित करेगा।

विद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष च्यवन भार्गव ने कहा कि सफलता को कोई शार्टकट नहीं होता। सफलता सदैव कड़ी मेहनत, अनुशासन, लगन एवं देश हित में काम करने की भावना से ही मिलती है। मुझे गर्व है कि विद्या भारती ऐसे कर्मठ नवयुवकों को तैयार करने वाली खान के रूप में जानी जाती है। अन्त में विद्यालय के प्रबन्धक डॉ संजय सिंह ने आये अतिथियों, अभिभावकों एवं सभी लोगों का आभार ज्ञापन किया। विद्यालय का वार्षिक परीक्षाफल विद्यालय के परीक्षा प्रमुख सुरेश चन्द्र त्रिपाठी ने प्रस्तुत किया। सत्र 2021-22 के शैक्षणिक एवं विविध गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया गया। तत्पश्चात् हस्तलिखित पत्रिका हिन्दी, हस्तलिखित पत्रिका अंग्रेजी एवं नई दिशा पत्रिका का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया।

इस अवसर पर विजय उपाध्याय, अव्यक्त राम, जगदीश सिंह, रामजी सिंह, कमलाकर, शरद गुप्त, डॉ नीरज श्रीवास्तव, डॉ अर्चना चहल, युगल किशोर मिश्र, सतीश, दिनेश, मीना श्रीवास्तव, मंजू दरबारी, शोभा भार्गव, मोहन टण्डन एवं बड़ी संख्या में प्रबुद्धजन, अभिभावक बन्धु भगिनी, गणमान्य नागरिक, समस्त आचार्य एवं छात्रगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के आचार्य सन्तोष पाण्डेय और संजय राय ने क्रमशः हिन्दी व अंग्रेजी में किया।

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button