उत्तर-प्रदेश

बाहुबली धनंजय सिंह के करीबी को BJP ने जौनपुर से उम्मीदवार बनाकर किया हैरान, सपा के लिए बड़ी चुनौती

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह के करीबी सिटिंग एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू को बीजेपी उम्मीदवार घोषित किया गया है. बृजेश सिंह को उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद जिले का राजनीतिक पारा चढ़ गया है. दरअसल सोमवार को एमएलसी चुनाव के नामांकन का आखिरी दिन था. बीजेपी ने बीएसपी छोड़ने वाले एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू को आचानक जौनपुर स्थानीय प्राधिकरण से एमएलसी उम्मीदवार बनाकर सपा के लिए मुसीबत खड़ी कर दी. दरअसल समाजवादी पार्टी ने जौनपुर स्थानीय प्राधिकरण के लिए डॉ मनोज यादव को एमएलसी प्रत्याशी बनाया है. बीजेपी द्वारा अधिकृत प्रत्याशी बनाये जाने के बाद प्रिंसू के आवास और कार्यालय से झंडे पोस्टर बैनर बदले जानें लगे.

जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह के करीबी कहे जाने वाले बृजेश सिंह प्रिंसू पिछली बार एमएलसी चुने गए थे. मल्हनी उप-चुनाव से लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष और विधानसभा चुनाव तक बृजेश सिंह प्रिंसू हमेशा धनंजय सिंह के साथ चुनाव प्रचार में लगे रहे. जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला सिंह को जीत भी मिली, लेकिन मल्हनी से चुनाव हारने के बाद बाहुबली धनंजय सिंह अपने करीबी बृजेश सिंह को फिर से एमएलसी बनाने में जुट गए हैं. बृजेश सिंह प्रिंसू पिछली बार बीएसपी से एमएलसी चुने गए थे.

धनंजय सिंह का करीबी बना BJP प्रत्याशी

इस बार उन्होंने एमएलसी चुनाव लड़ने के लिए निर्दल प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र खरीदा था. लेकिन बीजेपी द्वारा आख़िरी दिन उन्हें एमएलसी प्रत्याशी घोषित कर दिया. जिसके बाद उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन किया. बृजेश सिंह प्रिंसू को बीजेपी प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद धनंजय सिंह के समर्थकों में भी उत्साह देखा जा रहा है. नामांकन से पहले नगर के सिद्धार्थ उपवन में आयोजित एक सभा में बीजेपी नेताओं के साथ धनंजय सिंह भी मंच पर नजर आए थे. लेकिन धनंजय सिंह मंच में किनारे बैठे दिखे. मंच पर सदर विधायक गिरीश चंद्र यादव, बदलापुर विधायक रमेश चंद्र मिश्र, जिलाध्यक्ष पुष्पराज सिंह, पूर्व विधायक सुरेंद्र प्रताप सिंह, हरेंद्र सिंह, समेत कई नेता भी मौजूद रहे.

होर्डिंग से गायब धनंजय सिंह की तस्वीर

खास बात ये भी है कि मंच के पीछे बनी होर्डिंग्स से धनंजय की तस्वीर गायब थी. होर्डिंग्स में पीएम मोदी, सीएम योगी के साथ जिले के बीजेपी, निषाद पार्टी और अपना दल के नेताओं की तस्वीरें लगी थीं.  बता दें कि 2016 के चुनाव में बृजेश सिंह प्रिंसू ने बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था, उस दौरान उन्हें जीत भी मिली थी. प्रिंसू को 1765 वोट मिले थे. बाद में उन्होंने बहुजन समाज पार्टी छोड़ दी. नामांकन के आखिरी दिन बीजेपी द्वारा प्रत्याशी घोषित किए जाने के सवाल पर बृजेश सिंह प्रिंसू ने कहा कि किसी प्रत्याशी का टिकट तय करना किसी दल के शीर्ष नेतृत्व का काम होता है.  उन्होंने कहा कि सुबह बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें प्रत्याशी बनाने की जानकारी दी. जिसके बाद उन्होंने अपना नामांकन दाखिल किया. नामांकन के बाद उन्होंने जीत का दावा करते हुए कहा कि चुनाव एक तरफा होगा उनसे कोई नहीं लड़ेगा.

पिछली बार BSP से MLC बने बृजेश सिंह

जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह के करीबी बीजेपी के एमएलसी प्रत्याशी बृजेश सिंह प्रिंसू राजनीतिक घरानें से ताल्लुक रखते हैं. उनके दादा-दादी और पिता भी राजनीति में रह चुके हैं. बृजेश के दादा रामलखन सिंह 1957 से 1962 तक कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे. उनकी दादी अमरावती सिंह 1967 के चुनाव में जनसंघ से चुनाव लड़ी थीं, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. बृजेश सिंह के पिता सुरेंद्र प्रताप सिंह 1982 से 1987 तक करंजाकला ब्लॉक के प्रमुख रहे. साल 2010 से 2015 तक बृजेश सिंह प्रिंसू भी करंजाकला ब्लॉक प्रमुख रहे. लेकिन साल 2016 में प्रिंसू ने बीएसपी के टिकट पर एमएलसी चुनाव जीतकर समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका दिया था. इस बार बीजेपी ने बृजेश सिंह प्रिंसू पर भरोसा जताते हुए उन्हें जौनपुर से प्रत्याशी बनाया है.

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button