उत्तर-प्रदेश

परफ्यूम कारोबारी पीयूष जैन की मुश्किलें बढ़ीं, डीआरआई ने अब सोना तस्करी का भी मामला किया दर्ज

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में अलमारियों और तहखानों रखी अवैध नगदी के मामले में फंसे परफ्यूम व्यवसायी पीयूष जैन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. वहीं अब जैन की एक और मुश्किल बढ़ गई हैं. क्योंकि डीआरआई ने पीयूष जैन के खिलाफ कस्टम एक्ट 135 का केस दर्ज किया है. डीआरआई ने जैन पर तस्करी का भी मामला दर्ज किया गया है. क्योंकि जैन के पास कई किलोग्राम सोना मिला था और वह अभी तक सोने का हिसाब किताब सरकारी एजेंसियों को नहीं दे सका है. लिहाजा नया मामला दर्ज होने के बाद जैन की मुश्किलों में इजाफा हो गया. वहीं मामला दर्ज करने के बाद डीआरआई की टीम पीयूष से जेल में पूछताछ कर सबूत जुटाएगी. ताकि कोर्ट में उसके खिलाफ सबूत पेश किए जा सकें.

दरअसल जीएसटी इंटेलिजेंस की महानिदेशालय टीम ने आनंदपुरी में परफ्यूम कारोबारि पीयूष जैन के घर और कन्नौज में फर्म पर छापा मारकर 196 करोड़ रुपये जब्त किए थे, इसके साथ ही टीम ने 23 किलो विदेशी सोना और 600 लीटर चंदन का तेल भी बरामद किया था. इस मामले में डायरेक्टरेट आफ रेवन्यू इंटेलीजेंस विदेशी सोना जब्ती के मामले में जांच कर रहा है. वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में डीआरआई की टीम ने लखनऊ में पीयूष जैन के खिलाफ कस्टम एक्ट का मामला दर्ज किया है. जिससे उसकी मुश्किलें बढ़नी तय हैं. क्योंकि अब पीयूष जैन के खिलाफ दूसरा मामला भी चलेगा.

सोने की तस्करी का आरोप

डीआरआई ने पीयूष को सोने की तस्करी का आरोपी माना है. क्योंकि जैन घर में मिले सोने के बारे में कोई जानकारी नहीं दे सका है. लिहाजा इस मामले में उसके खिलाफ मामला दर्ज किया है. आरोप है कि सोना पीयूष तस्करी के जरिए विदेश से भारत लाया है. जिसे आधार बनाते हुए उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

अभी चंदन के तेल के मामले में भी होनी है पूछताछ

फिलहाल मामला दर्ज होने के बाद पीयूष जैन से फिर से पूछताछ की जाएगी. इसके लिए कोर्ट से अनुमति मांगी जाएगी. ताकि सबूत इकट्ठा करने के बाद दो महीने में चार्जशीट दाखिल की जा सके. वहीं घर में मिले चंदन के तेल को लेकर भी जैन ने कोई जवाब डायरेक्टरेट आफ रेवन्यू इंटेलीजेंस की टीम को नहीं दिया है. लिहाजा टीम को चंदन के तेल के मामले में भी पूछताछ कर कर आगे की कार्रवाई करने की तैयारी में है.

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button