उत्तर-प्रदेश

उन्नाव में भू-माफिया बेलगाम, सरकारी जमीन पर रातों रात खड़ी कर दी बाउंड्री वॉल, शिकायत पर पुलिस ने रोका निर्माण

उन्नाव के गंगा कटरी इलाके में भू-माफियाओं का आतंक जारी है. कब किस जमीन पर कब्जा हो जाए प्रशासन को भनक तक नहीं लगती. यहां तक की रातों रात दीवार तक खड़ी हो जाती है. या फिर यह कहा जाए कि प्रशासन की मिलीभगत से ही वह माफिया कटरी इलाके में जमकर अवैध कब्जा कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ सरकार बेहतर कानून व्यवस्था के दावे भी खूब करती है. लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही कहानी बयां कर रही है.

सरकारी जमीन पर कब्जे का आरोप

ताजा मामला उन्नाव गंगा घाट के पीपलखेड़ा का है, जहां पर देर रात भू-माफियाओं ने 4 बीघा जमीन कब्जा की और उस पर बाउंड्री खड़ी कर दी. सुबह जब ग्रामीणों ने देखा तो इसकी शिकायत आला अफसरों से की गई. फिलहाल जब मौके पर पुलिस पहुंची तो बाउंड्री में गेट लगाया जा रहा था. जिस पर पुलिस ने रोक लगा दी. दरअसल मझरा पीपर खेड़ा ग्राम सभा की भूमि संख्या 364, 365 ग्राम सभा में दर्ज है. दोनों नंबरों का रकबा चार बीघा करीब 15 बिस्वा बताया गया है. असरदार लोगों ने राजस्व विभाग से मिलीभगत कर धीरे-धीरे अधिकांश पर कहीं और का भूमिधरी नंबर दिखा कर करोड़ों की जमीन पर प्लाटिंग कर ली है.

रातों रात खड़ी कर दी बाउंड्री वॉल

मंगलवार और बुधवार की रात कब्जेदारों ने सरकारी जमीन पर बाउंड्री वॉल खड़ी कर दी. दिन में गेट लगने का सिलसिला चालू रहा. क्षेत्रीय लोगों ने सरकारी जमीन बचाने के लिये पुलिस से शिकायत की. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने काम रूकवा दिया. वहीं पुलिस के हटते ही फिर से कब्जा शुरू हो गया. एक पूर्व प्रधान ने बताया कि करोड़ों की जमीन को बचाने के लिये कई बार डीएम, एसडीएम को पूर्व में पत्र देकर गुहार लगाई गई है लेकिन कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई. जिससे भूमाफियाओं के हौसले बुलंद हैं.

कुछ हिस्से में बना है सरकारी स्कूल

यही नहीं उच्च प्राथमिक विद्यालय भी इसी साढ़े चार बीघा जमीन के हिस्से में लगभग चार बिस्वा जमीन पर बनवाया गया है. बाकी जमीन पर धीरे-धीरे कब्जा जारी है. उन्नाव के कटरी इलाकों में भू-माफियाओं ने फोरलेन स्थित आजाद नगर, नेतुआ, हरिहरपुर, कटरी पीपर खेड़ा, मझरा पीपर खेड़ा, कटहा दलनारायणपुर आदि ग्राम सभाओं में जहां भी सरकारी जमीन पड़ी हुई है. वहां पर एक संगठित सिंडीकेट कब्जेदारी में लगा हुआ है.

जांच कर करेंगे कार्रवाई: एसडीएम

इस मामले में जब उपजिलाधिकारी सत्यप्रीत सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पीपर खेड़ा ग्रामसभा की जमीन पर कब्जे की जानकारी मिली है. इस मामले की जांच करवा कर कब्जा कर रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. अगर निर्माण है तो उसे गिराया भी जाएगा.

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button