राष्ट्र-राज्य

पहाड़ों पर बर्फबारी से दिल्ली में कड़ाके की ठंड, आज और कल शीत लहर चलने की संभावना

नए साल 2022 की शुरुआत हो चुकी है. ऐसे में देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में शीतलहर का प्रकोप जारी है. जिसके चलते शहर में कड़ाके की ठंड भी पड़ रही है. वहीं, शनिवार सुबह नए साल के मौके पर राजधानी दिल्ली में मौसम काफी ठंडा बना हुआ है, जबकि पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी (Snowfall) और हल्की बारिश (Rainfall Weather) की वजह से मैदानी इलाकों में भी पारा गिर रहा है. वहीं, IMD के मुताबिक अगले कुछ दिनों तक ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना है.

दरअसल, मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी में आज न्यूनतम पारा 4 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है, जबकि अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है. हालांकि राजधानी में कोहरा छाया रहेगा. वहीं, जम्मू में भी नए साल की शुरुआत भीषण ठंड से हुई. शहर में आज न्यूनतम तापमान 5 डिग्री और अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है. ऐसे में श्रीनगर, लेह जैसे इलाकों में तापमान लगातार माइनस में बना हुआ है. यहां श्रीनगर में माइनस 3 डिग्री सेल्सियस तक तापमान के जाने की संभावना जताई गई है. अभी फिलहाल अधिकतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस रह सकता है. उधर, लेह में पारा और गिरेगा. यहां माइनस 16 डिग्री न्यूनतम तापमान रह सकता है.

3 जनवरी तक शीतलहर चलने की संभावना

गौरतलब है कि दिल्ली में बीते 3 जनवरी तक भीषण शीतलहर की संभावना के चलते बीते दिन मिनिमम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. यह तापमान दिल्ली के सफदरजंग इलाके में रहा, जबकि पालम इलाके में यह 7 डिग्री सेल्सियस था. हालांकि आने वाले दिनों में राजधानी में गलन वाली ठंड जारी रहने की संभावना है. उधर, मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी में 3 जनवरी तक भीषण शीत लहर की आशंका जताई है. फिलहाल मिनिमम तापमान जब 2 डिग्री सेल्सियन चला जाए या सामान्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज हो जाए तो ऐसी अवस्था ही ‘भीषण’ शीतलहर कही जाती है.

बीते दिन दिल्ली का AQI 308 किया गया दर्ज

बता दें कि पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता निगरानी केंद्र ‘सफर’ के अनुसार, राजधानी में शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 308 रहा, जोकि‘बेहद खराब’ श्रेणी में आता है. वहीं, शून्य और 50 के बीच AQI को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

Lahar Ujala

Related Articles

Back to top button