बड़ी खबरविश्व-लोक

यूक्रेन के अधिकारियों का दावा- मारियुपोल में थिएटर पर रूसी हवाई हमले में 300 लोगों की हुई थी मौत

यूक्रेन के अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि मारियुपोल शहर में एक थिएटर पर रूसी हवाई हमले में लगभग 300 लोग मारे गए थे. रूस के हमलों से बचने के लिए लोग इस थिएटर में शरण लिए हुए थे. टेलीग्राम चैनल पर प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से शहर सरकार ने बताया कि 16 मार्च को थिएटर पर हमले में मृतक संख्या लगभग 300 थी. ये तुरंत स्पष्ट नहीं है कि क्या आपातकालीन कर्मचारियों ने मौके का पूरा मुआयना कर लिया था और प्रत्यक्षदर्शियों को मौके के आंकड़े के बारे में कैसे पता चला. हवाई हमले के तुरंत बाद यूक्रेनी संसद के मानवाधिकार आयुक्त लुडमिला डेनिसोवा ने कहा था कि 1,300 से अधिक लोग इमारत में शरण लिए हुए हैं.

खारकीव के बाहरी इलाके में शुक्रवार को कोहरा छाया रहा और सुबह से ही लगातार गोलाबारी हो रही है. शहर के एक अस्पताल में कई घायल सैनिकों को लाया गया और वहां उनका इलाज चल रहा है. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की ने अपने देश से अपनी सैन्य रक्षा बनाए रखने का आग्रह किया. समाचार एजेंसी ‘इंटरफैक्स’ की खबर के अनुसार रूस की सेना ने शुक्रवार को दावा किया कि उसने कीव क्षेत्र में यूक्रेन के ईंधन अड्डे को नष्ट कर दिया.

देशभर में 230 स्कूल नष्ट हुए- व्लोदिमीर जेलेंस्की

उन्होंने गुरुवार की रात अपने वीडियो संबोधन में कहा कि हमारी रक्षा के हर दिन के साथ हम उस शांति के करीब पहुंच रहे हैं, जिसकी हमें बहुत आवश्यकता है. हम एक मिनट के लिए भी नहीं रुक सकते, क्योंकि हर मिनट हमारी किस्मत, हमारा भविष्य तय करता है कि हम जिएंगे या नहीं. उन्होंने कहा कि युद्ध के पहले महीने में 128 बच्चों सहित हजारों लोग मारे गए. उन्होंने कहा कि देशभर में 230 स्कूल नष्ट हो गए हैं. उन्होंने कहा कि शहर और गांव ‘राख के ढेर’ में बदल गए हैं.

गुरुवार को ब्रसेल्स में उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के एक आपात शिखर सम्मेलन में यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने विमानों, टैंकों, रॉकेटों, वायु रक्षा प्रणालियों और अन्य हथियारों के लिए पश्चिमी सहयोगियों से ये कहते हुए अनुरोध किया था कि उनका देश हमारे सामान्य मूल्यों की रक्षा कर रहा है. इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और उनके पश्चिमी सहयोगियों ने यूक्रेन पर रूस के हमले के जवाब में उस पर नए प्रतिबंध लगाने और युद्धग्रस्त देश को मानवीय सहायता प्रदान करने का संकल्प जताया है.

ये मदद हालांकि यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की के मजबूत सैन्य सहायता की मांग पूरी नहीं करती. बाइडेन ने घोषणा की थी कि अमेरिका 1,00,000 यूक्रेनी शरणार्थियों का स्वागत करेगा और भोजन, दवा, पानी तथा अन्य आपूर्ति के लिए अतिरिक्त एक अरब डॉलर देगा. पश्चिमी नेताओं ने गुरुवार को रूस के आक्रमण का मुकाबला करने के लिए आगे की कार्रवाई पर चर्चा की. साथ ही इस बात पर भी विचार किया गया कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के रासायनिक, जैविक या परमाणु हथियार की तैनाती करने की स्थिति में क्या कार्रवाई की जाएगी.

Lahar Ujala

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button